ब्रोकर कैसे चुनें

किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं

किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं
साथ ही बैंकों में भारतीय बाजार (Indian Market) में सबसे ज्यादा वैल्यू वाला बैंक (Bank) एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) है, इसकी भारतीय बाजार (Indian Market) में मार्केट वैल्यू 7.56 लाख करोड़ रुपये यानी की करीब 95.36 अरब डॉलर है।

Axis Bank के स्टॉक में मिलेगा अच्छा रिटर्न! ब्रोकरेज हाउस ने खरीददारी की दी सलाह

एक्सिस बैंक ने सिटी बैंक को खरीदने की घोषणा कर चुका है। अब एक्सिस बैंक में बैकिंग अकाउंट के साथ क्रेडिट कार्ड के ग्राहको की संख्या भी बढ़ने जा रही है। मीडिया रिपोर्ट के हिसाब से एक्सिस बैंक में 26 लाख नए क्रेडिट कार्ड यूजर बढ़ेगे। जिससे क्रेडिट कार्ड में एक्सिस बैंक की हिस्सेदारी 3.6% से बढ़कर 15.6% हो जाएगी।

Published: March 31, 2022 02:47:11 pm

शेयर मार्केट के निवेशक व ट्रेडर अच्छा रिटर्न पाने के लिए स्टॉक खोजते रहते हैं। निवेशक व ट्रेडर अपने रिसर्च के अनुसार अलग-अलग स्टॉक का चयन करते हैं। इसके साथ ही कई ब्रोकरेज हाउस भी स्टॉक्स को लेकर रिपोर्ट जारी करते हैं जिसमें वह खरीदने व बेचने का सलाह देते हैं।

good-returns-will-be-available-axis-bank-stock-brokerage-advised-buy_1.jpg

#6 Religare

रेलिगेयर सिक्योरिटीज लिमिटेड एक Financial Service Group है जो ऑनलाइन और ऑफ़लाइन दोनों प्लेटफार्मों पर 8 लाख से ज्यादा लोगो को सेवाए प्रदान कर रही है|

आप इसके चार्जेज और सेवाओ को देख कर अपने लिए चुनाव कर किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं सकते है –

  • RSL में आप एक खाते के माध्यम से इक्विटी, डेरिवेटिव, मुद्रा, वायदा, कमोडिटीज और म्यूचुअल फंड आदि सभी में निवेश कर पाएँगे|
  • यह आपको एक मोबाइल ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है, जिसकी मदद से आप किसी भी समय और कही से भी ट्रेडिंग कर पाएँगे|
  • और आपको Intraday Reporting के साथ Historical Chart की सुविधा भी प्रदान करता है|

  • Trading Account Opening Charges Rs. 0
  • Demat Account Opening Charge Rs. 0
  • Demat Account Maintenance 1st Year Free (Rs. 500 Yearly)
  • Intraday Charges 0.05%
  • Delivery 0.50%

#7 Aditya Birla

आदित्य बिरला का नाम आपने कई बार सुना होगा – यह फाइनेंसियल सर्विस कंपनी बहुत ही Low चार्जेज के साथ अधिक फायदा पहुंचती है|

इसमें डीमेट खाता के खर्च भी कम है और मार्जिन भी कई गुना ज्यादा है –

  • Demat Account Open करने के लिए Rs. 0 रूपये का चार्ज लगता है|
  • Demat Account Maintenance का 450 रुपये सालाना खर्च|
  • Trading Account Open करने का चार्ज Rs. 750 रूपये और
  • Trading Account Maintenance का चार्ज भी Rs. 0 रुपये|

Margin Provided

  • Commodity पर 4 गुना|
  • Equity Delivery पर 5 गुना|
  • Equity Intraday पर 15 गुना|
  • Currency Futures पर 3 गुना|
  • Equity Futures पर 3 गुना मार्जिन है|
  • Intraday Selected Nifty Script – 40 गुना

#8 Kotak Securities

कोटक आपको एक ऐसा Demat Account प्रदान करता है जिससे आप इक्विटी, म्यूचुअल फंड और मुद्रा डेरिवेटिव सभी में आसानी से निवेश कर पाएँगे|

इसके साथ ही शेयर्स, बांड, प्रतिभूतियां, म्यूचुअल फंड्स और एक्सचेंज सभी के प्रमाण पत्र एक साथ एक ही जगह पर रख पाएँगे| यह मुख्य रूप से Traders और Investors लिए बहुत ही उपयोगी व फ्रेंडली Demat Account है|

कोटक सिक्योरिटीज अपने निवेशको को आवश्यकता के अनुसार 4 प्रकार के ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है|

  • इसकी शेयर ट्रेडिंग वेबसाइट जो कही से भी एक्सेस हो सकती है और धीमी गति के इंटरनेट के साथ भी निवेशक इसका उपयोग कर सकते है|
  • कोटक एक Mobile App भी प्रदान करता है जिसके जरिये Trades execute कर सकते हैं, पोर्टफोलियो मॉनिटर कर सकते हैं, स्ट्रीमिंग कोट्स और इंट्राडेट चार्ट देख सकते हैं।
  • इसमें 1400 से अधिक शाखाओं के माध्यम से निवेशको को सुविधा प्रदान करता है।
  • कोटक कई सारे Investment Option प्रदान करती है| यह अपने ग्राहकों को SMS अलर्ट, बाजार पॉइंट्स, प्रियोडीकल रिपोर्ट आदि की सुविधाए के साथ साथ ऑनलाइन चैट की सुविधा भी देती है|

क्या जेरोधा प्लॅटफाॅर्म सुरक्षित हैं ? ( Kya Zerodha Safe Hai )

बिल्कुल सुरक्षित है, शेअर मार्केट में अभी फिलहाल जितने भी लेन देन होते हैं उसमें से बहुत सारी लेन देन जेरोधा के माध्यम से हि होते हैं क्योंकी लोगों का इसपर भरोसा हैं.
आज जो भी मार्केट में डिस्काउंट ब्रोकर है उसमें सबसे पसंदिदा और सबसे किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं अच्छी सर्विस वाली कोई ब्रोकरेज नाम होगा तो वह हैं जेरोधा.
यह देखा जाये तो आजतक लाभदायक कंपनी ही रही हैं, साल 2017-2018 के दौरान इस कंपनी ने लगभग 180 करोंड़ से ज्यादा का मुनाफा कमाया था और यह अभी तक चल रहा हैं.

वैसे तो जब ये लाॅन्च हुआ था तब यह डिस्काउंट ब्रोकर के नाम से आया था इसलिये अगर दुसरे ब्रोकर को देखे तो यह काफी सस्ता और कम Brokerage Charges Platform हैं.
अगर ओवरऑल की बात करें तो Demat Account के लिये आपको 300 रुपयें देने पड़ते हैं और Yearly Maintenance Charge 300 रुपयेें हैं. अगर Trending Account Opening कि बात करें तो इसके लिये कोई चार्ज नहीं हैं
अगर Option Trading कि बात करें तो 20-25 रुपयें हर एक ट्रेंड को लगाता हैं.
अगर Equity Delivery Trading Charges कि बात करें तो यह ना के बराबर है यानी 0.01 और 20 रुपये प्रती ट्रेंड हैं.

जेरोधा इस्तमाल के क्या फायदे हैं? (Benefits Of Zerodha Account)

अगर तुलना करें Upstox, Angel One, 5Paisa, ICICI direct, Groww, Motilal Oswal जैसे दुसरे ब्रोकर से तो ओवरऑल Zerodha Discount Broker हि आपको अच्छा रहेगा, अगर बात करें सर्विस और ब्रोकरेज चार्जेस की.
चलिये देखते कौन कौन से ऐसे फायदे हैं जो की आपको Zerodha से मिलेंगे.
1. सबसे महत्वपूर्ण बात जेरोधा डिलीवरी पर कोई भी शुल्क नहीं लेता हैं.
2. अगर आप इसके जरिये म्युचुअल फंड में निवेश करते हो तो यह बिल्कुल भी निशुल्क हैं, आपका कोई भी फीस नहीं देनी पड़ती किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं हैं.
3. अगर आप Zerodha Signup करते हो और अपना अकांउट बनाते हो तो आपको Zerodha Login details से ही आप Zerodha Coin और Zerodha Versity जैसे Platform को भी निशुल्क इस्तमाल कर सकते हों.
4. रोज जेरोधा प्लॅटफाॅर्म वर १० हजार करोड़ से भी ज्यादा का लेन देन होता है इसलिये यह एक ट्रस्टेड प्लॅटफाॅर्म आप मान सकते हो.
5. आज के समय जेरोधा के‌ किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं पास 36 लाख से भी ज्यादा ग्राहक हैं.
6. इसके हर एक सेक्शन के लिये आपको अलग अलग प्लॅटफाॅर्म मौजुद है जिसके जरिेये आप आसानी से अपने Mobile Phone और कंप्यूटर से भी ट्रेडिंग कर सकते हों. जिसका इंटरफेस बहुत User Friendly है जो कोई भी आसानी से समझ सकता हैं.

जेरोधा काईट क्या हैं? ( Zerodha Kite in Hindi)

यह सबसे ज्यादा लोकप्रिय प्लॅटफाॅर्म है जिसके माध्यम से आप Stock Market Equity, Delivery, Intraday, Future & Options, Commodity, Currency इत्यादी में इन्वेस्टमेंट तथा ट्रेडिंग कर सकते हो. अलग प्रकार के चार्ट , फंडामेंटल जानकारी , टेक्निकल जानकारी , हर एक Stock Chart इत्यादी इसमें कर सकते हों.

अगर आप शेअर मार्केट इन्वेस्टमेंट चालु करने कि सोच रहे हैं तो शेअर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने से पहले यह बातें जरुर जान ले यह आर्टिकल आप अवश्य पढ़ें.

जेरोधा वर्सिटी क्या हैं ? ( Zerodha Varsity in Hindi)

Zerodha ने किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं अपने ग्राहकों के लिये यह प्लॅटफाॅर्म उपलब्ध कराया हैं जिसपर आपको अलग अलग जानकारी, शिक्षा आपको किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं निशुल्क मिल जाती हैं.
इसपर आपको शेअर मार्केट का गणित यानी Fundamental Analysis, Technical Analysis, Derivatives, Trading Stategy, Risk Management, Money management, बाजार का नज़रिया जैसे कई अन्य विषयों पर जानकारी प्रदान की किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं जाती है जो कि आप देख सकते हों, सीख सकते हों.

Coin एक Zerodha द्वारा दिया गया प्लॅटफाॅर्म है जो की आपको Mutual Fund में Investment करने के लिये दिया गया हैं जिसके जरिये आप म्युचुअल फंड में मौजूद फंड को खरिद अथवा बेच सकते हों. खास बात यह है की यह बिल्कुल निशुल्क हैं.
Zerodha Coin Login के लिये आप आपका Trading Account का ही Username, Pin और Password इस्तमाल करना हैं इसलिये आपको अलग से कोई आयडी नहीं निकालनी होती.किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं

Kotak Bank Share : मार्केट में तेजी से उभरेगा कोटक बैंक का Share, जानिए क्या होगी कीमत

Kotak Bank Share : अगर आप भी शेयर मार्केट (Share Market) में रुचि रखते हैं और कोई नया शेयर (Share) खरीदने की सोच रहे हैं तो कोटक बैंक (Kotak Bank) का शेयर (Share) आपके किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल भारतीय स्टॉक मार्केट (Indian Stock Market) के एक बड़े ब्रोकरेज कंपनी ने अनुमान लगाया है कि कोटक बैंक (Kotak Bank) वर्ष 2027 तक 100 बिलियन के वैल्यू वाला बैंक(Bank) हो जायेगा। ब्रोकरेज फर्म गोल्डमैन सैक्स के अनुसार कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) वर्ष 2027 तक 100 बिलियन से अधिक का हो जायेगा। बता दें इसका कारण कोटक बैंक (Kotak Bank) के शेयर (Share) की स्टॉक (Stock) की रेटिंग 'न्यूट्रल' से बढ़ाकर 'बाई' कैटेगरी में कर दी गई है, जिससे कि इसके शेयर (Share) की रेट बढ़ने की उम्मीद है। जानकारी के अनुसार कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) के शेयर (Share) की कीमत 2135 रूपये तक होने की संभावना है।

किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं

दालों की बढ़ती मांग की वजह से कॉरपोरेट समूह भी दालों के कारोबार में दखल बढ़ाने लगे हैं

दालों की बढ़ती मांग की वजह से कॉरपोरेट समूह भी दालों के कारोबार में दखल बढ़ाने लगे हैं

भारत दाल-चावल, दाल-रोटी खाकर गुजर-बसर करने वाला देश रहा है। लेकिन पिछले कुछ दशकों से आम आदमी की थाली से दालें गायब हो किस प्रकार की ब्रोकरेज कंपनियां हैं रही हैं। वजह, दालों का उत्पादन-रकबा आबादी के अनुपात में नहीं बढ़ा है और कीमतें बढ़ने से दालें गरीबों के बजट से बाहर हो रही हैं। वहीं दूसरी ओर कम उपज, लाभकारी मूल्य न मिलना, जलवायु के उतार-चढ़ाव के प्रति अधिक संवेदनशीलता के कारण पोषण का खजाना और पर्यावरण हितैषी इस फसल से किसानों का मोहभंग हो चला है। बहुत से किसानों ने दलहन की जगह गेहूं, धान या सोयाबीन जैसी फसलों से नाता जोड़ लिया है। यह स्थिति क्यों आई और भारतीय कृषि पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा? आखिर क्यों दालों के सबसे बड़े उत्पादक और उपभोक्ता देश की आयात पर निर्भरता बढ़ रही है? दालों की कम उपलब्धता स्वास्थ्य को किस प्रकार प्रभावित करेगी और इसके दूरगामी परिणाम क्या होंगे? डाउन टू अर्थ ने इन तमाम प्रश्नों के उत्तर तलाशती एक रिपोर्ट तैयार की। पहली कड़ी आप पढ़ चुके हैं। दूसरी कड़ी में आपने पढ़ा कि किसान सोयाबीन की फसल को तरजीह दे रहे हैं । इससे आगे की कड़ी में आपने पढ़ा, गेहूं चावल की तरह मुफ्त में क्यों नहीं मिल रही दाल । पढ़ें अगली कड़ी -

रेटिंग: 4.50
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 670
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *