शुरुआती लोगों की मुख्य गलतियाँ

विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ

विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ

भारतीय अर्थव्यवस्था पर सामान्य ज्ञान क्विज (सेट-12)

भारतीय अर्थव्यवस्था पर तैयार की गयी क्विज का उद्देश्य भारतीय अर्थव्यवस्था के विविध क्षेत्रों से सम्बंधित सामान्य लेकिन जरूरी जानकारी को बहुवैकल्पिक प्रश्नों के रूप में प्रस्तुत विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ करना है | इनके अभ्यास द्वारा प्रतियोगी छात्र परीक्षाओं विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ में पूछे जाने वाले प्रश्नों के स्वरुप से परिचित हो सकेंगे |

भारतीय अर्थव्यवस्था पर तैयार की गयी क्विज का उद्देश्य भारतीय अर्थव्यवस्था के विविध क्षेत्रों से सम्बंधित सामान्य लेकिन जरूरी जानकारी को बहुवैकल्पिक प्रश्नों के रूप में प्रस्तुत करना है | इनके अभ्यास द्वारा प्रतियोगी छात्र परीक्षाओं में पूछे जाने वाले प्रश्नों के स्वरुप से परिचित हो सकेंगे |

1. औद्योगिक उत्पादन सूचकांक का मौजूदा आधार वर्ष क्या है?

2. निम्न में से कौन भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में सबसे अधिक योगदान देता है?

A. विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ

C. विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर)

D. इनमें से कोई नहीं

3. निम्न में से कौन सा कथन भारत की 12वीं पंचवर्षीय योजना के बारे में सही नहीं है?

A. इसकी समयावधि वर्ष 2012-2017 है|

B. इसका कुल परिव्यय 77 लाख करोड़ है|

C. इसका लक्ष्य 6% प्रतिवर्ष की दर से कृषि क्षेत्र में तेजी लाना है|

D. उपरोक्त सभी कथन सही हैं।

4. किस क्षेत्र का औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (IIP) में अधिकतम भारांश होता है?

5. भारत में पंचवर्षीय योजना की अवधारणा को किसने शुरू किया था?

B. जवाहर लाल नेहरू

6. निम्नलिखित कल्याणकारी योजनाओं में से कौन सी किसानों से संबंधित नहीं है?

A. स्वयं सहायता समूहों को बैंकों से जोड़ने का कार्यक्रम

B. राष्ट्रीय कृषि विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ बीमा योजना

C. कर्मचारी रेफरल स्कीम

D. किसान क्रेडिट कार्ड योजना

7. भारत में खाद्यान्न उत्पादक राज्यों का सही आरोही क्रम क्या है?

A. महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, गुजरात

B. तमिलनाडु, गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश

C. महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश

D. उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश, गुजरात

8. निम्नलिखित कथनों में से कौन सही नहीं है?

A. बागवानी फल, सब्जियों, नारियल आदि के उत्पादन से संबंधित है|

B. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना वर्ष 2010 में शुरू की गई थी।

C. आइसोपाम का संबंध तेल, बीज, और दालों के उत्पादन से है।

D. भूरी क्रांति उर्वरक से संबंधित है।

9. भारत में फसली क्षेत्र के एक बड़े भाग पर चावल की खेती की जाती है क्योंकि:

A. भारत में पर्याप्त वर्षा होती है।

B. चावल की खेती पूरे वर्ष की जा सकती है।

C. चावल देश के किसी भी हिस्से में उगाया जा सकता है।

D. इनमें से कोई नहीं |

10. इकोमार्क (ECOMARK) . से संबंधित एक मानक है |

A. स्वर्ण उत्पादों

B. पर्यावरण मित्र उत्पादों

C. उत्तम गुणवत्ता

D. इनमें से कोई नहीं

Question

Answer

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

Get the विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ latest General Knowledge and Current Affairs from all over India and world for all competitive exams.

भारत का कुल विदेशी मुद्रा भंडार कितना हो गया है -

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.4 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 589.465 अरब डॉलर पर पहुँच गया है।
विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत चौथे स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है।
विदेशी मुद्रा भंडार इसे फोरेक्स रिज़र्व या आरक्षित निधियों का भंडार भी कहा जाता है भुगतान संतुलन में विदेशी मुद्रा भंडारों को आरक्षित परिसंपत्तियाँ’ कहा जाता है तथा ये पूंजी खाते में होते हैं।
ये किसी देश की अंतर्राष्ट्रीय निवेश स्थिति का एक महत्त्वपूर्ण भाग हैं।
इसमें केवल विदेशी रुपये, विदेशी बैंकों की जमाओं, विदेशी ट्रेज़री बिल और अल्पकालिक अथवा दीर्घकालिक सरकारी परिसंपत्तियों को शामिल किया जाना चाहिये परन्तु इसमें विशेष आहरण अधिकारों , सोने के भंडारों और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की भंडार अवस्थितियों को शामिल किया जाता है।
इसे आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय भंडार अथवा अंतर्राष्ट्रीय भंडार की संज्ञा देना अधिक उचित है।
7 मई, 2021 को विदेशी मुद्रा भंडार
विदेशी मुद्रा संपत्ति (एफसीए): $546.493 बिलियन
गोल्ड रिजर्व: $36.480 बिलियन
आईएमएफ के साथ एसडीआर: $1.503 बिलियन
आईएमएफ के साथ रिजर्व की स्थिति: $4.989 बिलियन

विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ

Please Enter a Question First

निम्नलिखित में से एक भारत की व .

भारतीय रिजर्व बैंक की विदेशी मुद्रा परिसम्पत्ति सरकार की विदेशी मुद्रा परिसम्पत्ति : भारतीय रिजर्व बैंक का स्वर्ण स्टॉक सरकार की विशेष आहरण अधिकार ,विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ

Solution : आरबीआई के स्वामित्व वाली विदेशी मुद्रा/ परिसंपत्तियों, आरबीआई की स्वर्ण सम्पत्ति, स्पेशल ड्राइंग राइट्स (SDRs) और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में जमा भारतीय मुद्रा को भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में शामिल किया जाता है। विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ 29 जनवरी, 2016 तक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार ₹23,528 बिलियन था। 3 अक्टूबर, 2017 को भारतीय रिजर्व बैंक के पास विदेशी विनिमय भंडार 400 बिलियन डॉलर को पार कर गया इस प्रकार भारत विदेशी विनिमय भंडार के मामले में आठवें स्थान पर पहुंच गया है।

विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ

विदेशी मुद्रा भंडार 454 अरब डॉलर के पार

नई दिल्ली। विदेशी मुद्रा का देश का सुरक्षित भंडार 13 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में 1.07 अरब डॉलर और बढ़कर 13 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में 454.49 अरब डॉलर के नये शिखर पर पहुंच गया।

इससे पहले 06 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 453.42 अरब डॉलर रहा था। इस वर्ष मार्च के बाद से विदेशी मुद्रा भंडार में 41.62 अरब डॉलर बढ़ चुका है।

रिजर्व बैंक की तरफ से जारी आँकड़ों के अनुसार, कुल विदेशी मुद्रा भंडार में 13 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियाँ पहले के 421.26 अरब डॉलर से बढ़कर 422.42 डॉलर के बराबर पहुँच गई। हालांकि इस दौरान स्वर्ण भंडार 27.08 अरब डॉलर से घटकर 26.97 अरब डॉलर का रह गया।

विशेष निकासी अधिकार की राशि 13 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में 20 लाख डॉलर बढ़कर 1.44 अरब डॉलर पर पहुँच गयी। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के पास सुरक्षित राशि एक करोड़ 40 लाख डॉलर बढ़कर तीन अरब 65 करोड़ 80 लाख डॉलर पर पहुँच गई।

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 693
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *