शुरुआती लोगों की मुख्य गलतियाँ

मुहूर्त ट्रेडिंग का समय

मुहूर्त ट्रेडिंग का समय

मुहूर्त ट्रेडिंग आज, एक घंटे के लिए खुलेंगे शेयर बाजार

नई दिल्लीः देश में दिवाली के पर्व पर धन की देवी लक्ष्मी की पूजा की जाती है। इस दिन पैसे खर्च करना और कमाना दोनों ही शुभ माना जाता है। इस महत्व को देखते हुए शेयर बाजार में भी इस दिन विशेष ट्रेडिंग होती है, जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग कहते हैं। इस विशेष मुहुर्त के दौरान लोग लंबे समय के लिए शेयर्स खरीदते हैं।

तिजोरी की पूजा करते हैं अधिकारी
दिवाली के दिन बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बी.एस.ई.) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एन.एस.ई.) में बाजार एक घंटे के लिए खुलता है। उत्तर भारत के व्यापारी दिवाली से नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत करते हैं। धनतेरस और दिवाली के दिन अपनी अकाउंट बुक और तिजोरी की पूजा करते हैं। ऐसा माना जाता है कि दिवाली पूजा की रात को देवी लक्ष्मी पूजा स्थल पर आती हैं। इस दिन एक्सचेंज के अधिकारी ऑफिस में दिए जलाते हैं और मिठाइयां बांटते हैं। उसके बाद ट्रेडिंग सेशन शुरू होता है. ऐसा करना कोई नियम नहीं है लेकिन पिछले कई साल से ऐसा होता आ रहा है। और अब यह परंपरा बन गई है।

मुहूर्त कारोबार
दिवाली के मौके पर आज शेयर बाजारों में शाम 6.30 बजे से 7.30 बजे तक मुहूर्त कारोबार होगा। बी.एस.ई. और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने बताया कि प्री-ओपनिंग सत्र शाम 6.15 बजे शुरू होगा और क्लोजिंग तथा पोस्ट क्लोजिंग रात आठ बजे तक चलेगी।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

पत्रकार की हत्या मामले में सऊदी शहजादे को बचाने के लिए अमेरिका ने उठाये कदम

पत्रकार की हत्या मामले में सऊदी शहजादे को बचाने के लिए अमेरिका ने उठाये कदम

अमेरिकी सांसदों ने चीन के खतरों से निपटने के लिए व्यापक रणनीति बनाने का किया आग्रह

अमेरिकी सांसदों ने चीन के खतरों से निपटने के लिए व्यापक रणनीति बनाने का किया आग्रह

Faridabad: बाथरूम में नहाते वक्त महिला की गैस गीजर से दम घुटने के कारण हुई मौत

Diwali Muhurat Trading 2021: जानें मुहूर्त ट्रेडिंग का महत्व, समय और जरूरी बातें

Diwali Muhurat Trading 2021: मुहूर्त ट्रेडिंग शाम 6.15 बजे से 7.15 बजे तक चलेगी.

Diwali Muhurat Trading 2021: जानें मुहूर्त ट्रेडिंग का महत्व, समय और जरूरी बातें

Diwali Muhurat Trading Timing 2021: वैसे तो दिवाली के दिन शेयर बाजार (Share Market) बंद रहता है. लेकिन हर साल दिवाली के दिन मार्केट में एक घंटे का स्पेशल ट्रेडिंग सेशन होता है, जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग कहा जाता है. मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान बाजार में निवेश करना शुभ माना जाता है.

मुहूर्त ट्रेडिंग टाइमिंग-

इस साल भी दिवाली के दिन 4 नवंबर को एक घंटे के स्पेशल ट्रेडिंग सेशन 'मुहूर्त ट्रेडिंग' का आयोजन होगा. ये ट्रेडिंग शाम 6.15 बजे से 7.15 बजे तक चलेगी. आप इस दौरान तीनो सेगमेंट इक्विटी, फ्यूचर एंड ऑप्शन और करेंसी और कमोडिटी मार्केट में ट्रेड कर सकेंगे.

ब्लॉक डील के लिए शाम 5.45 से 6 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है. प्री-मार्केट सेशन शाम 6 बजे खुलेगा और 8 मिनट चलेगा. प्री मार्केट सेशन शाम के 6:08 मिनट पर बंद होगा.

मुहूर्त ट्रेडिंग का महत्त्व-

अगर आप हिंदू फैमिली से ताल्लुकात रखते हैं तो आपने 'मुहूर्त' शब्द जरूर सुना होगा. माना जाता है, 'मुहूर्त' एक शुभ समय होता है जिसके दौरान ग्रह खुद को इस तरह सेट करते हैं कि इस दौरान किए गए कार्य अच्छे परिणाम देते हैं. आसान शब्दों में 'मुहूर्त' समय में किए गये काम को शुभ माना जाता है.

मान्यताओं के अनुसार, मुहूर्त ट्रेडिंग के एक घंटे के दौरान मुहूर्त ट्रेडिंग का समय कारोबार करने वाले लोग साल भर अच्छा धन कमाते हैं.

हिंदू कैलेंडर के अनुसार नववर्ष की शुरुआत दिवाली के दिन से होती है. 4 नवंबर 2021 को विक्रम संवत 2078 की शुरुआत होगी. इसी के साथ गुजरात जैसे भारत के कई हिस्सों में नये वित्त साल की शुरुआत होती है.

मुहूर्त ट्रेडिंग क्या है?- Diwali Muhurat Trading 2022 IN INDIA

TRADING & INVESTING PORTFOLIO DIVERSIFICATION नमस्कार दोस्तो कैसे है आप i शुभ दिवाली दोस्तों , दिवाली का टाइम चल रहा है जो की हमारी यानिकी हिन्दुओं की सबसे पवन त्योहारों में से एक है i दीयों और रौशनी के इस त्यौहार को हिन्दू कैलंडर के मुताबिक बेहद पवित्र मन जाता है i कारोबार और investment की सुख सम्रद्धि के लिए दिवाली की बड़ी महत्ता है , इस दिन कारोबारी , दुकानदार नए बही खातों को शुरू करते हैं ,पुराने खाते बंद करते है i

Table of Contents

Stock market की बात की जाए तो बन्हा भी दिवाली की एक बेहद अलग अहम् भूमिका है , बैसे तो दिवाली छुट्टी का दिन है और share market भी बंद रहता है , लेकिन अगला पूरा साल इन्वेस्टर्स ट्रेडर और कारोबार से जुड़े लोगों के लिए अगला पूरा साल खुशहाली बाला हो इसके लिए दिवाली के लिए कुछ समय के लिए भारतीय share मार्केट्स को खोला जाता है , इसे ही ‘’ MUHURAT TRADING ‘’ कहा जाता है i

MUHURAT TRADING IN HINDI

WHAT IS MUHURAT TRADING ? –

दोस्तों आप लोगों के मन में यह भी सवाल आता होगा की MUHURAT TRADING क्या होता है , MUHURAT मतलब ऐसा समय जब कोई कम करना SHUBH होता है , और फायदेमंद रहता है i MUHURAT के वक्त सभी गृह एक दम सही पोजीशन में होते हैं , MUHURAT TRADING के दौरान 1 घंटे के लिए बाज़ार खुले होते हैं , हर साल stock exchange मुहूर्त ट्रेडिंग का वक्त तय करते है माना जाता मुहूर्त ट्रेडिंग का समय है की इस वक्त ट्रेडिंग करने वालों को पुरे साल ट्रेडिंग के फायदे मिलते रहेंगे i

MUHURAT TRADING का इतिहास –

दिवाली की शाम को एक घंटे के लिए MUHURAT TRADING की जाती है MUHURAT TRADING की शुरुवात 1957 से bombey stock exchange के द्वारा शुरू की गई थी , उस समय पर online TRADING PLATFORMS नही थे इसीलिए सभी ब्रोकर्स एक जगह ही BSE में एकत्रित हो कर के MUHURAT TRADING में share ख़रीदा करते थे , बहुत साल बिट जाने के बाद भी MUHURAT TRADING को लेकर जो उत्साह था बो आज भी कम नही हुई है iii

MUHURAT TRADING कैसे करें –

दोस्तों मुहूर्त ट्रेडिंग करने के लिए आपको बस दिए हुए लिंक से डिमत account ओपन करनी है और KYC के लिए PAN CARD और AADHAR CARD से प्रोसेस कम्पलीट करनी है , फिर आप मुहूर्त ट्रेडिंग करनी है जो की हर साल दिवाली में समय अलग अलग होती है iii

MUHURAT TRADING समय 2022 –

ब्लाक डील सेशन – शाम 5.45 -6.

प्री- ओपन मार्केट – शाम 6-6.08

सामान्य ट्रेडिंग – शाम 6.15 -7.15

कॉल option सेशन – शाम 6.20-7.05

क्लोजिंग सेशन – शाम 7.25-7.35

MUHURAT मुहूर्त ट्रेडिंग का समय TRADING प्रोफिट्स –

दोस्तों मुहूर्त ट्रेडिंग share खरीदने और बेचने का एक अच्छा वक्त होता है , क्योंकि इस दौरान ऊँचा ट्रेडिंग वॉल्यूम होता है , आमतौर पर बाजार BULLISH TRAND में होता है , क्योंकि ज्यादातर लोग इस दौरान shares के खरीदने पर जोर देते है i

यानिकी यदि आप भी दिवाली को सम्रद्धि और संपत्ति के लिहाज से खास मानते हैं , तो आप भी MUHURAT TRADING में हिस्सा ले सकते हैं , और हाँ MUHURAT TRADING मर भी मुहूर्त ट्रेडिंग का समय उन्ही चीजों का ख्याल रखना होगा यानिकी बढ़िया कम्पनी हो , अच्छा फाइनेंसियल STATEMEMT हो और बाकि जो हमने share market free course के चैप्टर में सिखाया है i

दोस्तों हम आप लोगों के लिए SHARE MARKET , TECHNICLE ANALYSIS , MUTUAL FUND ,स्वयं की ग्रोथ एवं अपना व्यापार कैसे बड़ा करना है, सब जानकारी के लिए जो मूल मंत्र अति आवश्यक होते हैं वह लाते रहते हैं कृपया हमारी लेख को लाइक एवं कमेंट करना ना भूलें औरदोस्तों को भी शेयर करें जिससे आपकी वैल्यू बढ़े , शेयर अवश्य करें धन्यवाद

आज एक घंटे के लिए खुलेगा शेयर बाजार, जानें मुहूर्त ट्रेडिंग का पूरा शेड्यूल

नई दिल्ली, । आज पूरे देश भर में दिवाली धूमधाम से मनाई जा रही है। दिवाली के दिन देवी लक्ष्मी जी पूजा की जाती हैं और माना जाता है कि इससे घर और व्यापार में समृद्धि बढ़ती है। इसी को देखते हुए दिवाली पर पूजन के समय निवेशकों के लिए एक घंटे के लिए शेयर बाजार को खोला जाता है, जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग कहा जाता है।

मुहूर्त ट्रेडिंग के सत्र को इस बार दिवाली की शाम को 6:15 बजे से 7:15 बजे तक के लिए रखा गया है। इस दौरान बाजार में अन्य कारोबारी दिनों की तरह आप शेयर की खरीद बिक्री कर सकते हैं।

jagran

क्यों होती है मुहूर्त ट्रेडिंग

हिंदू मान्यताओं के अनुसार, दिवाली के दिन नए विक्रम संवत की शुरुआत होती है। इस दिन कारोबारियों की ओर से पुराने बही खातों को बंद कर नए बही खातों में एंट्री की जाती हैं। इस साल दिवाली पर नए विक्रम संवत 2079 की शुरुआत हो रही है। नए विक्रम संवत के पहले दिन वित्तीय लेनदेन करना कभी शुभ माना जाता है और निवेशकों को इस भावना को देखते हुए कई दशकों से ‘मुहूर्त ट्रेडिंग’ का विशेष सत्र आयोजित किया जा रहा है।

दिवाली 2022 पर मुहूर्त ट्रेडिंग का शेड्यूल

दिवाली पर आज एक घंटे के लिए देश के दोनों बड़े एक्सचेंज एनएसई और बीएसई को मुहूर्त ट्रेडिंग के लिए खोला जाएगा। मयूर ट्रेडिंग का समय शाम 6:15 से 7:15 मुहूर्त ट्रेडिंग का समय बजे तक का रखा गया है। आज ब्लॉक डील सेशन शाम 5:45 बजे से 6:00 बजे तक, प्री ओपन ट्रेडिंग सेशन को शाम 6:00 बजे से 6:08 बजे तक, नॉर्मल मार्केट शाम 6:15 से 7:15 बजे तक, कॉल ऑशन सेशन 6:20 से 7:05 बजे तक और क्लोजिंग सेशन 7:25 से 7:35 बजे तक के लिए रखा गया है।

jagran

आधी सदी पुरानी है मुहूर्त ट्रेडिंग

दिवाली के दिन मुहूर्त ट्रेडिंग की परंपरा शुरुआत करीब आधी सदी पहले 1957 में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर की गई थी और धीरे- धीरे इस परंपरा को देश में मौजूद सभी एक्सचेंजों की ओर से शुरू किया गया है। 1992 में एनएसई की स्थापना के बाद भी इस परंपरा को जारी रखा गया है।

रेटिंग: 4.67
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 463
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *