विदेशी मुद्रा व्यापार का परिचय

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें?

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें?
रेलिगेयर सिक्योरिटीज लिमिटेड एक Financial Service Group है जो ऑनलाइन और ऑफ़लाइन दोनों प्लेटफार्मों पर 8 लाख से ज्यादा लोगो को सेवाए प्रदान कर रही है|

Best Demat Account In India

Intraday trading tips in hindi : इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है?

Hello friends, कैसे हैं आप? आशा करता हूँ आप सभी अच्छे होंगे. Aryavarta Talk – hindi me jaankari में आपका स्वागत है. यह वेबसाइट आप लोगों जैसे जिज्ञाषु readers के लिए ही समर्पित है, जहाँ पर आप रोजाना कुछ नया सीखते हैं. आज का हमारा विषय है Intraday trading tips in hindi : इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है?

आपलोगों ने शेयर मार्केट के बारे में जरुर सुना होगा. शेयर मार्केट में पैसा कमाने के लिए लोगों को लम्बा इन्तिज़ार करना पड़ता है. महीनो तक invest करना पड़ता है. लोगों के बीच यह अवधारणा बनी हुई है कि पैसा कमाने के लिए लम्बा इंतिजार करना पड़ता है. किन्तु share market में कम समय में भी कमाई करने का option है.

Intraday trading से हो सकती है एक ही दिन में कमाई, समझिये हमारे साथ क्या है इंट्रा डे ट्रेडिंग का पूरा process. आप हर रोज शेयर खरीद या बेंचकर कमा सकते हैं – पैसे.

Intraday trading tips in Hindi

किसी कंपनी के शेयर को एक ही दिन में खरीद कर बेच देना Intraday trading कहलाता है. इस प्रक्रिया में सुबह पैसा लगाकर शाम को कमाई की जा सकती है. ऐसा माना जाता है कि यहाँ मुनाफा त्वरित और आसानी से कमाया जा सकता है. इंट्राडे ट्रेडिंग में जिस दिन आपने शेयर ख़रीदा उसी दिन आपको वह शेयर market बंद होने से पहले बेचना होता है या तकनिकी भाषा में कहें तो स्क्वायर ऑफ करना होता है.

Intraday trading का उद्देश्य निवेश करना नहीं होता है बल्कि लाभ कमाना होता है. यहाँ शेयर्स खरीदने के लिए आपके पास ट्रेडिंग अकाउंट होना चाहिए. एक बात आपको ज्ञात होनी चाहिए कि शेयर्स बाज़ार में निवेश करने के लिए Demat account के साथ – साथ इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? ट्रेडिंग अकाउंट भी होना जरुरी है. ट्रेडिंग अकाउंट ब्रोकर के जरिये खोला जाता है.

Intraday trading जोखिम भरा होता है ऐसा इसलिए क्योंकि आपके पास समय नहीं होता है. यहाँ हिसाब उसी दिन बराबर करना होता है चाहे फ़ायदा हो या नुकसान.

लाभ कैसे कमाया जाता है?

इंट्राडे ट्रेडिंग में आप शेयर खरीदकर उसी दिन जब शेयर का भाव ऊपर हो उस समय में बेंचकर लाभ कमा सकते हैं. किन्तु यहाँ जोखिम इस बात की होती है कि शेयर का भाव उसी दिन बढ़ेंगे या घटेंगे यह कोई नहीं कह सकता है. यहाँ अनुभव काम आती है. जब कोई निवेशक यहाँ निवेश करता है तो वह बाज़ार के उतार चढ़ाव पर हर वक़्त नज़र बनाये रखता है.

कहते हैं लालच बुरी बला है यह बात बिल्कुल यहाँ सटीक बैठती है. ज्यादातर निवेशक यहाँ लालच के कारण नुकसान उठाते हैं. यहाँ लाभ कमाने के लिए एक निवेशक को बाज़ार का तकनिकी ज्ञान के साथ – साथ बहुत सारे रिसर्च करने पड़ते हैं. इंट्राडे ट्रेडर्स और नियमित निवेशक में अंतर होता है.

  • सबसे पहले आप यह सुनिश्चित कर लें कि आप क्या करने जा रहे हैं क्योंकि यह जितना आसन लगता है उतना है नहीं.
  • इसके दोनों सकारात्मक और नकारात्मक पहलु होते हैं.
  • शुरुआत करने से पहले प्लान बनाना आवश्यक है.
  • लाभ और हानि दोनों स्थितियों को ट्रैक करना सीखें.
  • ज्यादा liquidity वाले शेयर्स पर ध्यान दें ताकि किसी भी वक़्त उसे खरीदने और बेंचने के लिए इन्तिज़ार नहीं करना पड़े. ऐसे शेयर्स उपयुक्त मात्रा में मौजूद होते हैं.
  • वर्तमान बाज़ार के उतार – चढ़ाव के साथ आगे बढ़ें.
  • मंदी के समय में उन shares पर नज़र रखें जिन शेयर्स को निचे जाने की संभावना हो.
  • बाज़ार की चाल पकड़ने की कला सीखें इसके उतार और चढ़ाव से सीधे टक्कर न लें तो बेहतर होगा.
  • कीमतों की movement पर नज़र बनाये रखने के लिए इंट्राडे ट्रेडर्स के द्वारा चार्ट का इस्तेमाल किया जाता है. यह चार्ट आमतौर पर तकनिकी विश्लेषण करने में ट्रेडर्स की मदद करता है.
  • जोखिम को ध्यान में रखकर कूल व्यापारिक पूंजी का 2 या 3 प्रतिशत से ज्यादा जोखिम न उठायें. इसके लिए Stop Loss का उपयोग करें.
  • इंट्राडे ट्रेडिंग का समय प्रातः 9:15 से शाम 3:30 बजे तक होती है.
  • जहाँ तक हो सके यहाँ trading पुख्ता जानकारी के आधार पर ही करें.
  • शुरुआत में trading को सिमित रखें, धैर्य से काम लें, भावनाओं में ना बहें.
  • दुनिया की ख़बरों से अवगत रहें, सीखते रहें और इसके बुनियादी नियम की ओर विशेष ध्यान दें.

Conclusion : निष्कर्ष

सारी स्तिथियों का जायजा लेने के पश्चात हम यह कह सकते हैं कि intraday trading एक सट्टे की तरह ही है. बाज़ार का रूझान कब आपके खिलाफ हो जाएगी और कब आपके साथ होगी ये बात कोई नहीं बता सकता है. इसमें लाभ कमाने का कोई पक्का फार्मूला मौजूद नहीं है. इसके जोखिम को ध्यान में रखते हुए हमेशा उसी धन का उपयोग करें जिसे खोने के लिए आप तैयार हैं.

हर दिन आपको एक अलग ट्रेडिंग शैली या रणनीति के साथ बाज़ार में उतरना होगा. लोगों के सुझाव, इसमें उपयोग होनेवाली software, तकनिकी संकेतक केवल मार्गदर्शन के लिए हैं हो सकता है परिणाम इसके विपरीत भी हो सकते हैं. किसी दिन आपको profit होगा तो किसी दिन loss भी हो सकता है.

यदि आप बाज़ार में उतर गये हैं तो किसी को दोष ना दें. यह आपका चुनाव है, बस सीखते रहें, अनुभव लेते रहें, शेयर बाज़ार में टिके रहने का यही एक बेस्ट formula है. बाज़ार का क्षेत्र बहुत बड़ा है यहाँ कब बाज़ी पलटेगी आपको शत प्रतिशत कोई नहीं बता सकता है.

Intraday Trading kaise kare in Hindi

दोस्तों, बात शेअर मार्केट की हो और Intraday कि चर्चा ना हो ऐसा हो सकता है क्या? इंट्राडे ट्रेडिंग दिखने में जितनी आसान दिखती है उतनी ही पेचीदा होती हैं.Intraday Trading Kaise kare इसीलिए आपके पैसे को सेफ रखने के लिये और उसे बढ़ाने के लिये हम आपके लिये Intraday Trading के नुस्खे बतायेंगे जिसे अगर आप समझते हैं तो बड़े आसानी से और विचारपुर्वक आप इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते हों.
इंट्राडे ट्रेडिंग वहीं कर सकता है जो शेअर मार्कट का गणित समजता हैैं.आपने अभी अभी शेअर मार्केट पे आई सोनी कि वेबसेरिज देखी ही होगी जिसका नाम था स्कैम 1992 जो की भारत के सबसे बढे स्कैंम हर्षित मेहता पर बनी थी इसमें एक डायलॉग है जो कि देखा जाये तो इसमें बहुत सच्चाई हैं वह डाॅयलाॅग यह था कि शेअर मार्केट इतना बढ़ कुआं है कि हर एक कि प्यास बुझा इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? सकता हैं, हालाकी यह सच भी लेकिन बिना नाॅलेज के यह आपको डुबा भी सकती हैं.

इंट्रा-डे ट्रेडिंग क्या होती हैं?

अगर इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? हम किसी Stock को आज के दिन ही खरिदते है और आज के दिन हि बेचते हैं तो इस इंट्रा-डे कहते हैं.
अगर आपने उसे बेचा नहीं तो भी ऑटोमैटिक वह स्केअर अप यानी एक्सिट हो जाता हैं जैसे ही ट्रेंडिंग का समय खत्म होता हैं.
इंट्रा-डे में आपको कम पैसों में ज्यादा शेअर खरिदने मिलते हैं यानी ज्यादा नफा और इसका उल्टा ज्यादा रिस्क भी, कुछ भी हो जाये आपको नुकसान हो या फायदा वह दिन के आखिर में पता लग ही जायेंगा.

अगर आप इंट्राडे करते हैं तो हम कुछ टिप्स और ट्रिक्स आपको बताने जा रहे हैं.

इंट्रा-डे ट्रेडिंग करने के 7 टिप्स और ट्रिक्स:

1. ओवर ट्रेडिंग से दुर रहें

यह सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक बात है अगर आप नये नये स्टाॅक मार्केट में आहे हो तो क्योंकि ज्यादातर लोग इसी कारण नुकसान में रहते हैं.
ओवर ट्रेडिंग मतलब जादा ट्रेंड लेना और अपने रिस्क को बढाना.
जब हम इंट्रा-डे करना चाहते हैं तो पहले ही यह फिक्स करले कि आप इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? कितने ट्रेंड ज्यादा से ज्यादा लेंगे इससे होगा ये कि आपका कॅपिटल बच जायेगा और आप अगले दिन ट्रेंड ले पायेंगे.
ज्यादातर लोग अगर थोड़े लाॅस में जाते हैं तो उसको रिकव्हर करने के लिये बादमें फिर बिना सोचे समझे ट्रेंड में घुस जाते हैं और ज्यादा नुकसान कर इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? बैठते हैं.
एक बाद हमेशा याद रखिये जिस दिन मार्केट आपके ऍनालायसिस में मेल खायेगा तब आपको प्रोफिट होना तय है लेकिन जबरदस्ती ट्रेंड ना लें इससे गलती होने कि जादा चान्सेस हो जाते हैं.

#7 Aditya Birla

आदित्य बिरला का नाम आपने कई बार सुना होगा – यह फाइनेंसियल सर्विस कंपनी बहुत ही Low चार्जेज के साथ अधिक फायदा पहुंचती है|

इसमें डीमेट खाता के खर्च भी कम है और मार्जिन भी कई गुना ज्यादा है –

  • Demat Account Open करने के लिए Rs. 0 रूपये का चार्ज लगता है|
  • Demat Account Maintenance का 450 रुपये सालाना खर्च|
  • Trading Account Open करने का चार्ज Rs. 750 रूपये और
  • Trading Account Maintenance का चार्ज भी Rs. 0 रुपये|

Margin Provided

  • Commodity इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? पर 4 गुना|
  • Equity Delivery पर 5 गुना|
  • Equity Intraday पर 15 गुना|
  • Currency Futures पर 3 गुना|
  • Equity Futures पर 3 गुना मार्जिन है|
  • Intraday Selected Nifty Script – 40 गुना

#8 Kotak Securities

कोटक आपको एक ऐसा Demat Account प्रदान करता है जिससे आप इक्विटी, म्यूचुअल फंड और इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? मुद्रा डेरिवेटिव सभी में आसानी से निवेश कर पाएँगे|

इसके साथ ही शेयर्स, बांड, प्रतिभूतियां, म्यूचुअल फंड्स और एक्सचेंज सभी के प्रमाण पत्र एक साथ एक ही जगह पर रख पाएँगे| यह मुख्य रूप से Traders और Investors लिए बहुत ही उपयोगी व फ्रेंडली Demat Account है|

कोटक सिक्योरिटीज अपने निवेशको को आवश्यकता के अनुसार 4 प्रकार के ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है|

  • इसकी शेयर ट्रेडिंग वेबसाइट जो कही से भी एक्सेस हो सकती है और धीमी गति के इंटरनेट के साथ भी निवेशक इसका उपयोग कर सकते है|
  • कोटक एक Mobile App भी प्रदान करता है जिसके जरिये Trades execute कर सकते हैं, पोर्टफोलियो मॉनिटर कर सकते हैं, स्ट्रीमिंग कोट्स और इंट्राडेट चार्ट देख सकते हैं।
  • इसमें 1400 से अधिक शाखाओं इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? के माध्यम से निवेशको को सुविधा प्रदान करता है।
  • कोटक कई सारे Investment Option प्रदान करती है| यह अपने ग्राहकों को SMS अलर्ट, बाजार पॉइंट्स, प्रियोडीकल रिपोर्ट आदि की सुविधाए के साथ साथ ऑनलाइन चैट की सुविधा भी देती है|

trading account

ट्रेडिंग का मतलब होता है किसी भी वास्तु या सेवा को कम दाम में खरीदना और फिर उस वस्तु या सेवा का दाम बढ़ जाने पर उसे बेच देना। ट्रेडिंग का मुख्य मकसद किसी भी वास्तु या सेवा को खरीद कर कम समय में लाभ कमाना होता है। यही कारण है कि ट्रेडिंग शेयर मार्किट में सबसे ज्यादा की जाती है। और लोग हर रोज शेयर पर ट्रेडिंग करके हजारों और लाखों रूपये कमा लेते है।

तो अगर आप शेयर पर ट्रेडिंग करके पैसे कमाना चाहते है। तो सबसे पहले आपको शेयर मार्किट ट्रेडिंग को समझना होगा। चलिए जानते है शेयर मार्किट ट्रेडिंग क्या है ?

Share Market Trading Kya Hai?

शेयर मार्किट ट्रेडिंग, शेयर पर होने वाली ट्रेडिंग को कहते है। जब सुबह 9:15 AM पर शेयर मार्किट खुलती है। तब ट्रेडर कम दाम में शेयर को खरीद लेते है। और दोपहर के 3:30 PM के पहले शेयर को बेच देते है। क्योंकि शेयर मार्किट सुबह 9:15 AM पर खुलती है और 3:30 PM पर बंद हो जाती है। इस बीच ट्रेडर अपने ख़रीदे हुए शेयर इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? पर अनुमानित मुनाफे को देख कर शेयर को बेच कर मुनाफा कमा लेते है। लेकिन शेयर मार्किट में ट्रेडिंग अलग-अलग प्रकार कि होती है। और ट्रेडर अपनी सुविधा और जोखिम के अनुसार ट्रेडिंग करते है।

ट्रेडिंग कितने प्रकार कि होती है ?

शेयर मार्किट में मुख्य रूप से 3 प्रकार कि ट्रेडिंग होती है। और ट्रेडर मुनाफा कमाने के लिए अपनी सुविधा अनुसार ट्रेडिंग करते है।

Types of Share Trading?

Intraday Trading Kya Hai ?

शेयर मार्किट के खुलने से लेकर उसके बंद होने के पहले शेयर को खरीद कर बेचने को Intraday Trading कहते है।

इसमें ट्रेडर 9:15 AM से 3:30 PM के बीच शेयर को खरीदता और बेचता है।

Scalping Trading Kya Hai ?

सकैलपिंग ट्रेडिंग भी शेयर मार्किट के खुलने से उसके बंद होने इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें और इससे रोज पैसे कैसे कमायें? के बीच में की जाती है। लेकिन Scalping Trading में पुरे दिन ट्रेडिंग नहीं की जाती।

यह ट्रेडिंग ज्यादा से ज्यादा पैसों के साथ कुछ ही मिनट या घंटे के लिए कि जाती है। जैसे 9:15 AM पर शेयर को खरीद कर 10:05 AM पर ही शेयर बेच कर मुनाफा कमा लेना।

Swing Trading Kya Hai ?

Swing Trading बाकि दोनों सकैलपिंग ट्रेडिंग और इंट्राडे ट्रेडिंग से अलग है। यह कुछ दिन और हफ़्तों के लिए की जाती है। लेकिन इसमें भी शेयर को खरीदना और बेचना शेयर मार्किट के खुलने और बंद होने के बीच ही किया जाता है। स्विंग ट्रेडर पहले शेयर मार्किट में कम दाम पर शेयर खरीद लेते है। और फिर उन्हें hold करके रख लेते है। उसके बाद जब कुछ दिन या हफ्ते में उनके शेयर की price ज्यादा हो जाती है, तो उन्हें बेच कर मुनाफा कमा लेते है।

trading account क्या है ? → what is trading account?

Trading Account एक ऐसा खाता है, जिसमे निवेशक या ट्रेडर के पैसा जमा होते है। यह Trading Account , निवेशक या ट्रेडर के डीमैट अकाउंट से लिंक कर दिया जाता है। जिसकी वजह से शेयर खरीदने के बाद शेयर Demat अकाउंट में जमा हो जाते है। और शेयर बेचने पर Demat Account में से शेयर निकल जाते है।

ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट के बिच का फर्क (Difference Between Demat and Trading Account):

  • ज्यादातर लोग Trading और Demat Account एक साथ खुलवाने की वजह से इन दोनों के बिच का फर्क नहीं जानते। लेकिन इन दोनों के बिच बहुत बड़ा फर्क होता है।
  • Demat Account एक ऐसी जगह है जिसमे आपके द्वारा ख़रीदे गए शेयर को रखा जाता है। इसलिए यह एक स्टोरेज की तरह होता है। जिसमे कोई शेयर खरीदने पर शेयर जमा होता है। और बेचने पर शेयर निकल जाता है। जबकि Trading Account का उपयोग है, शेयर ख़रीदने और बेचने के लिए ऑर्डर रखने की सुविधा देना।
  • ट्रेडिंग अकाउंट में पैसा जमा रखा जा सकता है। जबकि डीमैट अकाउंट में पैसा जमा नहीं होता।

trading account के लाभ (Benefits of a Trading Account) :

  • बदलती टेक्नोलॉजी के कारण Online Trading की सुविधा से शेयर की खरीद बिक्री बहुत ही आसान हो गई है।
  • शेयर खरीदने पर पैसा कटना और बेचने पर पैसा जमा होना यह सभी ऑटोमैटिक हो जाता है।
  • ऑनलाइन ट्रेडिंग की सुविधा की वजह से लिखित या कॉल कर के ऑर्डर देने की जरुरत नहीं रहती। और भेजा गया ऑर्डर बहुत जल्दी कम्पलीट हो जाता है।
  • सिर्फ एक मोबाइल के द्वारा किसी भी जगह से शेयर खरीद और बेच सकते है।

तो दोस्तों यह था trading account क्या है? कैसे बनाए trading account? उम्मीद करता हु आपको trading account के बारे में पूरी जानकारी समझ आ गया होगा,

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है । हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

रेटिंग: 4.90
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 255
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *