निवेश योजना

किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट कैसे करें

किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट कैसे करें
इसके पहले हमने म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) के बदले लोन सुविधा भी शुरू की थी, जिसे बहुत अच्छा रिस्पांस मिला है. मुझे भरोसा है कि शेयरों पर लोन हमारे ग्राहकों को अचानक से पड़ने वाले खर्च को मैनेज करने के लिए और अधिक विकल्प देगा. शेयर निवेशकों के बढ़ते रिटेल मार्केट ने लोन अगेंस्ट शेयर्स प्रोडक्ट को और भी महत्वपूर्ण बना दिया है. क्योंकि यह निवेशकों को अपने निवेश को प्रोटेक्ट करने और एक ही समय में यात्रा, चिकित्सा पर खर्च, घर की मरम्मत जैसे शॉर्ट टर्म खर्चों का प्रबंधन करने के लिए लिक्विडिटी देता है.

शेयर बाजार में कंपनी को लिस्ट कैसे करें?

आइए जानते है शेयर बाजार में कंपनी को लिस्ट कैसे करे, एक लिस्टेड कंपनी की अच्छी प्रतिष्ठा होती है। हर एक कंपनी की चाह रहती है की वो भी शेयर मार्केट में रजिस्टर्ड हो। शेयर बाजार में कंपनी को रजिस्टर्ड होने के लिए आईपीओ IPO (Initial Public Offer) लाना होता है। IPO के माध्यम से कंपनी अपने शेयर्स को जनता को बेचकर पूंजी जुटा सकती है। IPO एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके द्वारा कंपनी पहली बार अपने शेयर सार्वजनिक रूप से जारी करती है, IPO से जुटाई गई पूंजी का उपयोग कई तरह से कर सकते है। जैसे;

किसी भी कंपनी को स्टॉक एक्सचेंज (NSE and BSE) पर लिस्ट करना आसान नहीं है। IPO or Listing की प्रक्रिया बहुत मुश्किल है, उसके भी अलग अलग प्रक्रिया होती है।

कंपनी को NSE या BSE पर लिस्ट होने के लिए स्टॉक एक्सचेंज को फीस जमा करनी होती है।

  1. निवेश बैंक की नियुक्ति करना : कंपनी को IPO ki प्रक्रिया शुरू करने के लिए अंडरराइटर्स और इन्वेस्टमेंट बैंक की नियुक्ति करनी होती है। जैसे कुछ खास IPO Underwriters में मोर्गन स्टेनली, जेएम फाइनेंशियल आदि शामिल है।
  2. SEBI में रजिस्टर्ड करना : कंपनी और अंडरराइटर एक साथ ऑफर डॉक्यूमेंट तैयार करते है जिसने इन्वेस्टर्स के लिए सभी आवश्यक जानकारी होती है ताकि वे सही निर्णय ले सके , ऑफर डॉक्यूमेंट को SEBI के पास भेजा जाता है मंजूरी के लिए। क्योंकि SEBI ही सभी कंपनीज को मंजूरी देती है।
  3. रेड हेरिंग डॉक्यूमेंट (Red Herring Prospectus) : यह एक दस्तावेज है जिसमे प्रति शेयर का संभावित मूल्य का अनुमान होता है और IPO के बारे में अन्य जानकारी उन लोगो से शेयर की जाती है जो ipo से जुड़े होते है।
  4. मार्केटिंग :SEBI से मंजूरी मिलने पर कंपनी के अधिकारी हर तरफ IPO की मार्केटिंग इन्वेस्टर्स के लिए करते है।

शेयरों को गिरवी रख कर भी ले सकते हैं लोन, इस कंपनी ने शुरू की सुविधा

Zee Business हिंदी लोगो

Zee Business हिंदी 23 घंटे पहले संजीत कुमार

Loan Against Shares: स्टॉक मार्केट में निवेश करने वालों के लिए बड़ी खबर है. मुश्किल घड़ी में आप अब शेयर को गिरवी रख कर भी लोन ले सकते हैं. मिरे एसेट ग्रुप की नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (NBFC) मिरे एसेट फाइनेंशियल सर्विसेज (Mirae Asset Financial Services) ने 'लोन अगेंस्ट शेयर्स' (Loan Against Shares) सुविधा शुरू की है. यह लोन एनएसडीएल-रजिस्टर्ड डीमैट खातों वाले सभी यूजर्स के लिए MAFS मोबाइल ऐप के माध्यम से उपलब्ध होगा. मिरे एसेट फाइनेंशियल सर्विसेज शेयरों के बदले में एंड-टू-एंड डिजिटल लोन प्रदान करने वाली चुनिंदा कंपनियों में से एक है.

₹1 करोड़ तक मिल सकता है लोन

NSDL डीमैट खातों वाले ग्राहक अपने इक्विटी निवेश को ऑनलाइन गिरवी रखकर ₹10,000 से लेकर ₹1 करोड़ तक की लोन अगेंस्ट शेयर्स (Loan Against Shares) का लाभ उठा सकते हैं. ग्राहक एप्रूव्ड इक्विटी की एक बड़ी लिस्ट से अपने शेयरों को गिरवी किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट कैसे करें रख सकते हैं और उसी दिन एक लोन अकाउंट बना सकते हैं.

यह लोन ओवरड्राफ्ट सुविधा के रूप में उपलब्ध कराया जाएगा. ग्राहक जब चाहें और जहां भी जरूरत हो, मोबाइल ऐप के माध्यम से जरूरत की राशि निकाल सकते हैं. लोन की राशि उसी दिन सीधे ग्राहक के बैंक खाते में जमा करा दी जाती है. जहां तक ब्याज की बात है तो उपयोग की गई और अवधि पर 9% सालाना होगा. यूजर्स MAFS मोबाइल ऐप के माध्यम से इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं, आवश्यक राशि वापस ले सकते हैं और वापस चुका भी सकते हैं. इस ऐप के ही जरिए लोन अकाउंट को बंद कराया जा सकता है और साथ ऐप पर अन्य कई गतिविधियों की सुविधा मिलती है.

ग्राहकों का बचेगा समय

पहले लोन के लिए जटिल आवेदन प्रक्रिया और लोन अकाउंट बनाने में लगने वाला लंबा समय अक्सर ग्राहकों को निराश करता था. मिरे एसेट फाइनेंशियल सर्विसेज Loan Against Shares म्यूचुअल फंड यानी म्‍यूचुअल फंड के खिलाफ लोन की सुविधा पहले से ही दे रहा है. अब शेयर के बदले में लोन भी ग्राहकों को मिल सकेगा. बिना किसी कागजी कार्यवाही के उसी दिन शेयरों पर लोन देने की क्षमता प्रोडक्ट को चलाने के लिए ब्रॉन्‍ड के प्रयास का एक प्रमुख फैक्‍टर होगा.

इस सुविधा के शुरू किए जाने पर मिरे एसेट फाइनेंशियल सर्विसेज (इंडिया) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कृष्ण कन्हैया ने कहा कि हमारे प्रोडक्ट फोलियो में एनएसडीएल के साथ शेयरों के बदले डिजिटल लोन को जोड़ना रोमांचक है. NSDL की प्रौद्योगिकी पहल को धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि इसने हमें ग्राहकों को अपने शेयर ऑनलाइन गिरवी रखने और उसी दिन शेयरों के बदले लोन देने में सक्षम बनाने की अनुमति दी है.

आईनॉक्स ग्रीन एनर्जी का IPO अलॉटमेंट आज, यहां चेक करें स्‍टेटस

नई दिल्ली. आईनॉक्स ग्रीन एनर्जी (Inox Green Energy) के आईपीओ के तहत शेयरों के अलॉटमेंट की घोषणा आज किसी किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट कैसे करें किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट कैसे करें भी समय की जा सकती है. कंपनी के अस्थायी आईपीओ शेड्यूल के अनुसार शेयरों के अलॉटमेंट की संभावित तिथि 18 नवंबर 2022 है. आइपीओ के दौरान इसके लिए बोली लगाने वाले निवेशक बीएसई की वेबसाइट या आधिकारिक रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर लॉग इन करके आईपीओ अलॉटमेंट स्टेटस ऑनलाइन चेक कर सकते हैं.

आईनॉक्स ग्रीन एनर्जी के लिए लिंक इनटाइम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को पब्लिक इश्यू का आधिकारिक रजिस्ट्रार नियुक्त किया गया है. इसे बीएसई और एनएसई पर लिस्ट करने का प्रस्ताव है. इसी बीच पिछले दो दिनों से डिस्काउंट में कारोबार करने के बाद आइनॉक्स ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के शेयर आज ग्रे मार्केट में 2 रुपये के प्रीमियम पर हैं.

आइनॉक्स ग्रीन एनर्जी का शेयर अलॉटमेंट आज

Paytm Share Update: पेटीएम के शेयरहोल्डर्स को अबतक 90 हज़ार करोड़ का घाटा! अब आगे क्या होगा?

Paytm किसी भी कंपनी को शेयर मार्केट में लिस्ट कैसे करें Shareholders Loss: बड़ी उम्मीद के साथ Paytm स्टॉक मार्किट में लिस्ट हुआ था. पूरी उम्मीद में पानी फिर गया.

Paytm Share Will Hike Or Fall Down: Paytm Shares ने इन्वेस्टर्स को न सिर्फ निराश किया बल्कि लंबा घाटा पहुंचा दिया। जब कंपनी स्टॉक मार्केट में लिस्ट हुई थी तब IPO के लिए होड़ मच गई थी. अब Softbank जो Paytm के एंकर इन्वेस्टर था उसने भी बड़े घाटे में अपने सभी शेयर्स बेच डाले। ओपन मार्केट में ब्लॉक डील से कंपनी ने 4.5% हिस्सेदारी बेच दी. और इसी के साथ Paytm शेयर 10% नीचे गिर गए. हैरान करने वाली बात ये है कि लिस्टिंग के बाद से अबतक पेटीएम के शेयर्स 71% नीचे गिर चुके हैं. इसी दौरान इन्वेस्टर्स के 90,000 करोड़ रुपए डूब चुके हैं.

पेटीएम शेयर होल्ड करें या बेच दें?

Paytm Share Price को देखें तो यह शेयर कहीं से खरीदने लायक तो नहीं दिख रहा है. बीते एक हफ्ते में यह 17% और पिछले तीन महीने में 33% नीचे जा चुका है. जिन्होंने IPO खरीदा था उसकी रकम आधे से कम हो चुकि है. Paytm अभी भी घाटे में है. पेटीएम का स्टॉक होल्ड करना है या बेचना है इसके लिए हम आपको कोई सलाह नहीं दे सकते।

पेटीएम की पेरेंट कंपनी One 97 Communications का लॉस सितम्बर तिमाही में बढ़कर 571.5 करोड़ रुपए हो गया है. जबकि पिछले साल यह 473.5 करोड़ था. तिमाही के आधार पर देखें तो घाटे में कमी आई है. जून तिमाही में यह नेट लॉस 655.4 करोड़ था.

Paytm का कहना है कि सितम्बर तिमाही के बाद उनकी आमदनी सालाना आधार पर 76.2% बढ़ी है. पेटीएम के यूजर्स में भी बढ़त आई है. जून तिमाही के आधार पर कंपनी में 14% की बढ़त देखी गई है.

Rewariyasat.com को ये जानकारी CNBC TV 24 से मिली हैं. हम किसी को कहीं भी निवेश या विनिवेश की सलाह नहीं देते हैं.

ग्राहकों का बचेगा समय

पहले लोन के लिए जटिल आवेदन प्रक्रिया और लोन अकाउंट बनाने में लगने वाला लंबा समय अक्सर ग्राहकों को निराश करता था. मिरे एसेट फाइनेंशियल सर्विसेज Loan Against Shares म्यूचुअल फंड यानी म्‍यूचुअल फंड के खिलाफ लोन की सुविधा पहले से ही दे रहा है. अब शेयर के बदले में लोन भी ग्राहकों को मिल सकेगा. बिना किसी कागजी कार्यवाही के उसी दिन शेयरों पर लोन देने की क्षमता प्रोडक्ट को चलाने के लिए ब्रॉन्‍ड के प्रयास का एक प्रमुख फैक्‍टर होगा.

इस सुविधा के शुरू किए जाने पर मिरे एसेट फाइनेंशियल सर्विसेज (इंडिया) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कृष्ण कन्हैया ने कहा कि हमारे प्रोडक्ट फोलियो में एनएसडीएल के साथ शेयरों के बदले डिजिटल लोन को जोड़ना रोमांचक है. NSDL की प्रौद्योगिकी पहल को धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि इसने हमें ग्राहकों को अपने शेयर ऑनलाइन गिरवी रखने और उसी दिन शेयरों के बदले लोन देने में सक्षम बनाने की अनुमति दी है.

रेटिंग: 4.23
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 429
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *