निवेश योजना

शुल्क संकेतों

शुल्क संकेतों
All Rights Reserved © LovePik.com 2018-2022

सावधान रहें,इन अशुभ संकेतों से..

यदि गृहस्वामिनी के हाथ से बार बार बिना किसी कारण के भोजन नीचे जमीन पर गिरता है तो, यह संकेत शुभ नहीं होता है, समझ शुल्क संकेतों लो कि धन हानि या दरिद्रता का आगमन होने वाला है. ऐसे अशुभ संकेत प्रकृति हमारे सामने प्रगट करती रहती है परन्तु हम उन्हें समझ नहीं पाते या हमे इस बात का कोई ज्ञान नहीं होता कि इस संकेत का अर्थ क्या है. इस लेख से पहले लेख में मेने शुभ संकेतों की चर्चा की थी,जो कि भविष्य की सूचना देने वाले शुभ संकेत.. नामक लेख था, आज अशुभ संकेतों की बात करते है.—

१:- घर के परिसर में बिल्ली या बिलाव का रोना या आपस में झगड़ा करना विपत्ति या घर में क्लेश का सूचक है.

२:- यदि घर के मुख्य द्वार से सांप का प्रवेश होता है तो, यह गृहस्वामी या गृहस्वामिनी के स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं होता है.

३:-यदि घर में कोई चोट खाया या घायल पक्षी या उसका कोई काटा हुआ अंग आँगन में गिरता है तो, समझ लीजिए कि महासंकट आने वाला है.

४:- घर में यदि शुल्क संकेतों कुतिया प्रसव करती है तो यह गृहस्वामी के लिए अच्छा संकेत नहीं है, इसके कारण शत्रु की वृद्धि होती है तथा अपने ही परिवार में मतभेद होने लगते है.

५:- यदि घर में कौवा, गिद्ध, चील या कबूतर नित्य बैठते है और छह मास तक लगातार निवास बनाए हुए है तो गृहस्वामी पर नाना प्रकार की विपत्ति आने का सूचक होता है.

६:- यदि घर में काले रंग के चूहे बहुत अधिक तादाद में दिन और रात भर घूमते रहते हो तो, समझ लीजिए कि किसी रोग या शत्रु का आक्रमण होने वाला है.

७:- यदि घर की छत पर, दीवार पर या घर के किसी भी कोने में लाल रंग की चींटिया घुमती या रेंगती हुई दिखाई दे, तो समझ लीजिए कि संपत्ति का क्षय होता है. या संपत्ति का कोई नुक्सान हो जाता है. और यदि पंख वाली चींटियां हो तो घर में बिना किसी कारण के क्लेश की स्थिति उत्पन्न होने लगती है.

८:- यदि पालतू गाय अपना दूध पीती हो या अत्यधिक सिर हिलाती हो, तो घर के गृहस्वामी के ऊपर कर्ज बढ़ता है और भाग्य खराब होने लगता है.

९:- यदि किसी खुशी के कार्य पर घर में आग लग जाय तो धन हानि की संभावना बन जाति है.

१०:- यदि घर में बने मंदिर की कोई मूर्ति या चित्र अपने आप खंडित या जल जाए, या जमीन पर हाथ से छूट कर टूट जाए तो, यह संकेत पूरे परिवार के लिए शुभ नहीं होता तथा इसके कारण समाज में मां हानि और कलंक लगता है. घर शुल्क संकेतों में विवाह आदि शुभ कार्यों में अनावश्यक बाधाओं का सामना करना पडता है.

११:- यदि घर में रसोई का प्लेटफार्म का चटकना या टूटना, चाकले का टूटना या तड़क जाना दरिद्रता की निशानी होती है.

१२:- यदि घर में दूध बार बार जमीन पर गिरता हो, किसी भी कारण से तो घर में क्लेश और विवाद की स्थिति बनती है.

१३:- यदि सुबह के समय या शाम के समय कौवा मांस या हड्डी लाकर गिराता है तो, समझ लीजिए कि अमंगल होने वाला है और बिमारी, चोट आदि पर धन खर्च होगा.

१४:- यदि शुल्क संकेतों कोई भी पक्षी घर में किसी भी समय कोई लोहे का टुकड़ा गिराता है तो, यह अशुभ संकेत होता है जिसके कारण अचानक छापा या कारावास होने की पूरी पूरी संभावना बनने लगती है.

१५:- यदि जिस दिन शुल्क संकेतों नए घर में प्रवेश करना हो तो, उसी दिन सूर्योदय के समय कोई भी पशु रोता है तो उस दिन गृह प्रवेश टाल दें यह संकेत शुभ नहीं होता है घर में प्रवेश करते ही दुःख आरम्भ हो जायेंगे.

1. कार्य पर जाते समय यदि बिल्ली रास्ता काट जाए तो कार्य असफल होने की आशंका रहती है। आप घर वापस आकर या थोड़ा विश्राम कर आगे जाएँ। तब कार्य सफल होगा।

2. कार्य पर जाते समय कोई दुष्ट प्रकृति वाला, व्यभिचारी अथवा अन्यायी, व्यभिचारिणी सामने आ जाए तो कार्य सफल नहीं होता।

3. शुभ कार्य के लिए विचार चल रहा हो तब यदि छिपकली की आवाज सुनाई दे तो कार्य की असफलता होती है।

4. घर में किसी देवता की मूर्ति अथवा चित्र टूट जाए तो मृत्यु या मृत्यु समान कष्ट हो सकता है। निवारण के लिए रामरक्षास्तोत्र अथवा दुर्गा माँ की आराधना करें।

5. यदि आपको आकाश में तारे टूटते दिखाई दें तो स्वास्थ्‍य खराब होने की सूचना होती है। इसी के साथ नौकरी में खतरा एवं आर्थिक तंगी आने लगती है।

6. आपके घर उल्लू के चिल्लाने की आवाज आ रही हो तो भूत बाधा का डर रहता है अथवा ऊपरी बाधा से ग्रसित हो सकते हैं, विशेषकर स्त्री।

7. कुत्ते का रोना अथवा सियार के रोने से रिश्तेदार, पड़ोसी या मोहल्ले में कष्ट (मृत्यु) की संभावना रहती है।

विशेष : घर में उल्लू गिरे तो मानहानि, आयुहानि होती है। इसकी शांति के लिए यज्ञ-पूजन अथवा जाप करना चाहिए। जंगली कबूतर नहीं पालें, अशुभ माना गया है।

कुछ सूक्ष्म उपाय (टोटके)—-

1. कबूतर की बीट एवं लोभान की कंडे पर धूप देकर पूरे घर में धुआँ करें, सुबह-शाम अथवा रविवार, बुधवार घर में शांति मिलेगी।

2. घर का मुखिया रात्रि में चौराहे पर बाटी (आटे से गोल लड्‍डूनुमा) बनाए, बाटी सिर्फ पाँच बनाए। फिर उसका क्षेत्रपाल देवता के नाम से उसी स्थान पर कोण लगाकर रास्ता बदलकर घर आए। घर में पूर्ण शांति मिलेगी। यह कार्य चौदस, रविवार, अथवा अमावस्या पर करने से विशेष लाभ मिलेगा।

उपरोक्त शुभ-अशुभ शकुन का भारतीय परंपरा एवं संस्कार में बड़ा महत्व माना गया है। इन छोटे टोटकों से आप लाभ ले सकते हैं।
इस प्रकार के अशुभ संकेत यदि सामने आटे है तो इनका उपचार भी शास्त्रों में दिया गया है कि संकेत देखने के बाद उसी समय मंदिर में जाकर सरसों के तेल का मिट्टी का दिया भगवान एक सामने अर्पण कर शुभ फल की प्रार्थना करें और किसी गाय को रोटी के अंदर गुड़ रख कर खिलाए. तथा श्री हनुमान चालीसा के पांच पाठ करे तो यह अशुभ संकेतों का दोष समाप्त हो जाता है.

कोई संकेत वीडियो टेम्प्लेट

All Rights Reserved © LovePik.com 2018-2022

Secure Payment :

If you have any questions or concerns, please do not hesitate to contact us.
We would love to hear from you, contact us on Email: [email protected]

सरकार ने कच्चे तेल पर विंडफॉल टैक्स को बढ़ाया, नई दरें लागू

नई दिल्ली (New Delhi), . केंद्र सरकार (Central Government)ने घरेलू स्तर पर उत्पादित कच्चे तेल पर विंडफॉल टैक्स (अप्रत्याशित लाभ कर) बढ़ा दिया है, जबकि डीजल के निर्यात पर कर घटा शुल्क संकेतों दिया है. नई दरें , गुरुवार (Thursday) से लागू हो गई है. एक आधिकारिक अधिसूचना में यह जानकारी दी गई है.

आधिकारिक अधिसूचना के मुताबिक भारत सरकार के स्वामित्व वाली ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) जैसी कंपनियों के उत्पादित कच्चे तेल पर विंडफॉल टैक्स 9,500 रुपये प्रति टन से बढ़ाकर 10,200 रुपये प्रति टन कर दिया गया शुल्क संकेतों है. इसी तरह डीजल के निर्यात पर दर को 13 रुपये प्रति लीटर से घटाकर 10.50 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है. डीजल पर लगने वाले शुल्क में 1.50 रुपये प्रति लीटर ‘रोड इंफ्रास्ट्रक्चर सेस’ भी शामिल है.

सरकार ने विंडफॉल टैक्स के पाक्षिक संशोधन के तहत यह बदलाव किया है. दरअसल विंडफॉल टैक्स ऐसी कंपनियों या इंडस्ट्री पर सरकार लगाती है, जिन्हें किसी विशेष परिस्थितियों में बड़ा मुनाफा होता है. हालांकि, जेट ईंधन यानी एटीएफ के निर्यात कर में फिलहाल कोई बदलाव नहीं किया गया है, जिसे एक नवंबर को पिछली समीक्षा में 5 रुपये प्रति लीटर निर्धारित किया गया था.

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार (Central Government)हर 15 दिन में विंडफॉल टैक्स की समीक्षा करती है. सबसे पहले एक जुलाई को पेट्रोल (Petrol) और एटीएफ पर 6 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर एक्सपोर्ट ड्यूटी लगाई गई थी. इसके अलावा कच्चे तेल के घरेलू उत्पादन पर 23250 रुपये प्रति टन का विंडफॉल टैक्स लगाया गया था.

एलन मस्क के अल्टीमेटम से ट्विटर को लगा धक्का? 100 कर्मचारियों ने दिया इस्तीफा, ट्रेंड कर रहा #RipTwitter

Twitter vs Elon Musk

Twitter: ऐसा लगता है कि ट्विटर एक नए विवाद में उलझा हुआ है. सैकड़ों कर्मचारियों ने एलन मस्क नए अल्टीमेटम के बाद कंपनी को छोड़ने का विकल्प चुना है और इस्तीफा दे दिया. दुनिया के सबसे अमीर शख्स ने उथल-पुथल का कोई संकेत नहीं दिया है. उन्होंने एक ट्वीट में कहा, “ट्विटर खबरों को ओपन-सोर्स करने जैसा है.” मस्क ने दूसरे ट्वीट में कहा, “आप सोशल मीडिया में एक छोटा सा लक कैसे बनाते हैं?”

  • सोशल नेटवर्क पर विदाई पोस्ट
  • बेन शापिरो और मैट वॉल्श?
  • यह पहला विवाद नहीं और भी विवाद जानिए

सोशल नेटवर्क पर विदाई पोस्ट

इस बीच इस्तीफों की खबरों के बीच सोशल नेटवर्क पर विदाई पोस्ट, मीम्स शुल्क संकेतों और अन्य सभी तरह की प्रतिक्रियाओं आ रही है. उन सभी ट्वीप्स के लिए जिन्होंने आज को अपना आखिरी दिन बनाने का फैसला किया. समाचार एजेंसी एपी के अनुसार, ट्विटर सत्यापन प्रणाली के ओवरहाल पर है. यूजर्स ने ट्विटर की सुस्ती में कर्मचारियों के स्कोर को सैल्यूट इमोजी पोस्ट किया है.

बेन शापिरो और मैट वॉल्श?

सीएनएन के ओलिवर डार्सी ने ट्वीट किया कि बड़े पैमाने पर पलायन क्या हो रहा है. पत्रकार मेहदी हसन अनुमान लगा रहे हैं कि अगर ट्विटर मर जाता है तो क्या होता है. उन्होंने कहा कि दिलचस्प बात यह है कि मस्क ने काम करने के लिए साइट खरीदी और रूढ़िवादियों ने उन्हें खुश किया, लेकिन अगर ट्विटर अब मर जाता है रूढ़िवादी क्या करते हैं? आपको लगता है कि टेड क्रूज़ और जोश हॉली ट्विटर को मिस नहीं करेंगे? बेन शापिरो और मैट वॉल्श? वे, हममें से बाकी लोगों की तरह इसके लिए जीते हैं.

यह पहला विवाद नहीं और शुल्क संकेतों भी विवाद जानिए

बेशक यह पहला विवाद नहीं है जो मस्क की निगरानी में सामने आया है. मस्क के अधिग्रहण शुल्क संकेतों के तीन सप्ताह से भी कम समय में सोशल नेटवर्क खबरों में रहा है और ट्विटर की हर जगह चर्चा की जा रही है कि वह क्या निर्णय ले रहा है. सबसे प्रमुख निर्णयों में से एक ब्लू टिक शुल्क था. एक अन्य कदम जिसने बड़े पैमाने पर आलोचना हुई थी. जिसमें अधिग्रहण के तुरंत बाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लगभग 50 प्रतिशत कर्मचारियों की बर्खास्तगी थी.

इंडियन ऑयल IOCL अपरेंटिस पाइपलाइन भर्ती ऑनलाइन फॉर्म 2022, यहां से करें आवेदन

इंडियन ऑयल IOCL अपरेंटिस पाइपलाइन भर्ती ऑनलाइन फॉर्म 2022, यहां से करें आवेदन

पद का नाम:- विभिन्न पाइपलाइन भर्ती 2022, में इंडियन ऑयल IOCL अपरेंटिस 465 पद के लिए ऑनलाइन आवेदन करें.

संपूर्ण जानकारी:- इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL) ने 465 ग्रेजुएट / डिप्लोमा / ITI / 10 + 2 विभिन्न ट्रेड अपरेंटिस पदों की भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है. इस IOCL अपरेंटिस में रुचि रखने वाले और पात्रता को पूरा करने वाले सभी अभ्यार्थी 10 नवंबर 2022 से 30 नवंबर 2022 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, IOCL अपरेंटिस भर्ती के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दिए गए बिंदुओं को ध्यानपूर्वक पढ़ें.

महत्वपूर्ण तिथियाँ

आवेदन शुरू- 10/11/2022

ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि- 30/11/2022 शाम 06 बजे तक।

फॉर्म भरने की अंतिम तिथि – 30/11/2022

परीक्षा तिथि – 18/12/2022

एडमिट कार्ड उपलब्ध – 08/12/2022

आवेदन शुल्क

एससी / एसटी / पीएच – 0/-

आवेदन करने के लिए अभ्यार्थी को किसी भी प्रकार का आवेदन शुल्क नहीं देना पड़ेगा.

IOCL अपरेंटिस 2022 आयु सीमा 10/11/2022 के अनुसार

न्यूनतम आयु- लागू नहीं

अधिकतम आयु- 24 वर्ष

इंडियन ऑयल एंड गैस IOCL अपरेंटिस भर्ती नियमों के अनुसार आयु में अतिरिक्त रूप से छूट दी जाती है.

कुल रिक्त पदों की संख्या – 465

IOCL विभिन्न अपरेंटिस पोस्ट ऑनलाइन फॉर्म 2022 कैसे भरें

इंडियन ऑयल एंड गैस IOCL विभिन्न पोस्ट अपरेंटिस भर्ती 2022 में अभ्यार्थी 10/11/2022 से 30/11/2022 के बीच आवेदन कर सकते हैं.

उम्मीदवार IOCL अपरेंटिस रिक्ति 2022 भर्ती में आवेदन करने के लिए कुछ मुख्य दस्तावेजों की आवश्यकता होती है जिनके नाम नीचे निम्नलिखित रुप में बताए गए हैं.

पात्रता, आईडी प्रमाण, पता विवरण, मूल विवरण, फोटो, साइन, आईडी प्रूफ, आदि.

अभ्यार्थी को आवेदन पत्र जमा करने से पहले एक बार उसका पूर्वावलोकन कर लेना चाहिए, और सभी कॉलम को ध्यान पूर्वक पढ़ लेना चाहिए.

रेटिंग: 4.83
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 294
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *