अनुशंसित लेख

अग्रणी संकेतक

अग्रणी संकेतक
भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की रिसर्च टीम ने जुलाई-सितंबर तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है.

अग्रणी संकेतक

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

We'd love to hear from you

We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

SBI रिसर्च ने घटाया भारत का ग्रोथ रेट अनुमान, सितंबर तिमाही में 5.8% रह सकती है वृद्धि दर

SBI रिसर्च की तरफ से सोमवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में कमजोरी और मार्जिन के बढ़ते दबाव को देखते हुए इकोनॉमिक ग्रोथ रेट अनुमान में कटौती की गई है.

SBI रिसर्च ने घटाया भारत का ग्रोथ रेट अनुमान, सितंबर तिमाही में 5.8% रह सकती है वृद्धि दर

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की रिसर्च टीम ने जुलाई-सितंबर तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है.

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की रिसर्च टीम ने जुलाई-सितंबर तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है. SBI रिसर्च टीम ने मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में कमजोरी और मार्जिन के बढ़ते दबाव को देखते हुए इकोनॉमिक ग्रोथ रेट अनुमान में कटौती की है. एसबीआई रिसर्च की तरफ से सोमवार को जारी एक रिपोर्ट में यह जानकारी मिली. एसबीआई रिसर्च टीम के मुताबिक, मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि दर 5.8 प्रतिशत रह सकती है जो औसत अनुमान से 0.30 प्रतिशत कम है. सरकार की तरफ से जुलाई-सितंबर, 2022 तिमाही के जीडीपी आंकड़े 30 नवंबर को जारी किए जाने हैं.

ग्रोथ रेट अनुमान में कमी की ये है वजह

एसबीआई के समूह मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्य कांति घोष की अगुवाई वाली टीम के मुताबिक, दूसरी तिमाही में बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्र को छोड़कर बाकी कंपनियों के ऑपरेटिंग प्रॉफिट में 14 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है जबकि एक साल पहले की समान तिमाही में 35 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई थी. रिपोर्ट के मुताबिक, इस तिमाही में इन कंपनियों के राजस्व में वृद्धि दर अच्छी रही है लेकिन उनके लाभ में एक साल पहले की तुलना में करीब 23 प्रतिशत की गिरावट आई है. इसके अलावा बैंकिंग एवं वित्तीय क्षेत्र को छोड़कर अन्य लिस्टेड कंपनियों के मार्जिन पर दबाव भी देखा गया है. उत्पादन लागत बढ़ने से कंपनियों का परिचालन मार्जिन दूसरी तिमाही में घटकर 10.9 प्रतिशत रह गया जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 17.7 प्रतिशत था. एसबीआई रिसर्च का मानना है कि ऐसी परिस्थितियों में दूसरी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर औसत बाजार अनुमान (6.1 अग्रणी संकेतक प्रतिशत) से कहीं कम 5.8 प्रतिशत रह सकती है.

Petrol and Diesel Price Today: क्रूड इस साल के हाई से 40% सस्‍ता, पेट्रोल और डीजल के आज क्‍या हैं रेट

मौजूदा वित्त वर्ष में 6.8 फीसदी वृद्धि दर का अनुमान

इसके साथ ही मौजूदा वित्त वर्ष की समूची अवधि में वृद्धि दर 6.8 प्रतिशत रह सकती है जो भारतीय रिजर्व बैंक के पिछले अनुमान से 0.20 प्रतिशत कम है. एसबीआई रिसर्च का यह अनुमान 41 अग्रणी संकेतकों के समूह पर आधारित समग्र सूचकांक पर आधारित है. घोष ने कहा कि यह अनुमान दर्शाता है कि जून और सितंबर के बीच आर्थिक गतिविधियों में सुस्ती रही लेकिन अक्टूबर में आर्थिक गतिविधियों के सुधरने से तीसरी तिमाही में आंकड़े बेहतर होने की उम्मीद बंधती है. उन्होंने कहा कि कई संकेतक वैश्विक झटकों, मुद्रास्फीति-जनित दबावों और बाहरी मांग में कमी के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था के जुझारू चरित्र को दर्शाते हैं.

GDP: कल आएंगे दूसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े, आर्थिक विकास दर के लिए SBI रिसर्च का ये है अग्रणी संकेतक अनुमान

GDP Forecast: कल देश की आर्थिक विकास दर के दूसरी तिमाही के आंकड़े आएंगे और इसके लिए कई वित्तीय संस्थाओं ने अपना अनुमान दिया है. जानें एसबीआई रिसर्च टीम ने देश की जीडीपी के लिए क्या कहा है.

By: ABP Live | Updated at : 29 Nov 2022 08:49 AM (IST)

Edited By: Meenakshi

आर्थिक विकास दर का अनुमान (फाइल फोटो)

GDP Forecast: केंद्र सरकार की तरफ से जुलाई-सितंबर, 2022 तिमाही के जीडीपी आंकड़े 30 नवंबर को जारी किए जाने हैं और इससे पहले एसबीआई रिसर्च ने अपना जीडीपी अनुमान दिया है जो अच्छी खबर लेकर नहीं आया है. भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की रिसर्च टीम ने मैन्यूफैक्चरिंग गतिविधियों में कमजोरी और मार्जिन पर बढ़ते दबाव को देखते हुए जुलाई-सितंबर तिमाही में देश की आर्थिक विकास दर के अनुमान को घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है. इसका अर्थ है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में देश की जीडीपी के 6 फीसदी के स्तर को भी नहीं छू पाने की संभावना है.

औसत अनुमान से कम है SBI रिसर्च का जीडीपी का अनुमान
एसबीआई रिसर्च की तरफ से जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की विकास दर 5.8 फीसदी रह सकती है जो औसत अनुमान से 0.30 फीसदी कम है.

क्यों दिख सकती है जीडीपी आंकड़ों में गिरावट
एसबीआई के समूह मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्यकांति घोष की अगुवाई वाली टीम के मुताबिक, दूसरी तिमाही में बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर को छोड़कर बाकी कंपनियों के ऑपरेटिंग प्रॉफिट में 14 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. हालांकि एक साल पहले की समान तिमाही में इनके मुनाफे में 35 फीसदी बढ़ोतरी हुई थी. रिपोर्ट के मुताबिक, दूसरी तिमाही में इन कंपनियों के राजस्व में बढ़ोतरी की दर अच्छी रही है लेकिन उनके मुनाफे में एक साल पहले की तुलना में करीब 23 फीसदी की गिरावट आई है. इसी का सबसे ज्यादा असर जीडीपी की गिरावट के रूप में सामने आ सकता है.

लिस्टेड कंपनियों के मार्जिन पर दबाव देखा गया
इसके अलावा बैंकिंग और फाइनेंशियल सेक्टर को छोड़कर अन्य लिस्टेड कंपनियों के मार्जिन पर दबाव भी देखा गया है. उत्पादन लागत बढ़ने से कंपनियों का ऑपरेटिंग मार्जिन दूसरी तिमाही में घटकर 10.9 फीसदी रह गया जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 17.7 फीसदी था.

News Reels

रिजर्व बैंक के अनुमान से कम आया है SBI रिसर्च का जीडीपी एस्टीमेट
एसबीआई रिसर्च का मानना है कि ऐसी परिस्थितियों में दूसरी तिमाही में जीडीपी की विकास दर औसत बाजार अनुमान (6.1 फीसदी) से कहीं कम 5.8 फीसदी रह सकती है. इसके साथ ही चालू वित्त वर्ष की पूरी अवधि में वृद्धि दर 6.8 फीसदी रह सकती है जो भारतीय रिजर्व बैंक के पिछले अनुमान से 0.20 फीसदी कम है. एसबीआई रिसर्च का यह अनुमान 41 अग्रणी संकेतकों के समूह पर आधारित समग्र सूचकांक पर आधारित है.

अक्टूबर में सुधरी हैं आर्थिक गतिविधियां- तीसरी तिमाही के आंकड़ों में दिखेगा असर
सौम्यकांति घोष ने कहा कि यह अनुमान दिखाता है कि जून और सितंबर के बीच आर्थिक गतिविधियों में सुस्ती रही लेकिन अक्टूबर में आर्थिक गतिविधियों के सुधरने से तीसरी तिमाही में आंकड़े बेहतर होने की उम्मीद बंधती है. उन्होंने अग्रणी संकेतक कहा कि कई इंडीकेटर वैश्विक झटकों, मुद्रास्फीति-जनित दबावों और बाहरी मांग में कमी के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था के जुझारू चरित्र को दर्शाते हैं.

ये भी पढ़ें

Published at : 29 Nov 2022 08:47 AM (IST) Tags: gross domestic products GDP Data GDP India GDP: July September GDP Growth Rate Second Quarter GDP हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Uniswap NFT एग्रीगेटर के लॉन्च के बाद नेटवर्क गतिविधि में वृद्धि देखता है

घोषणा ब्लॉग पोस्ट के अनुसार, NFTs एग्रीगेटर टूल उपयोगकर्ताओं को OpenSea, X2Y2, Sudoswap, LooksRare, Larva Labs, X2Y2, Foundation, NFT20, और NFTX सहित सभी प्रमुख NFT मार्केटप्लेस से लिस्टिंग तक पहुंच प्रदान करेगा।

Uniswap का मूल्य पूर्वानुमान 2023-24 पढ़ें

Uniswap ने कहा कि इसका एग्रीगेटर उपयोगकर्ताओं को एनएफटी की एक विस्तृत श्रृंखला तक पहुंच प्रदान करेगा क्योंकि मंच के पास अग्रणी एनएफटी मार्केटप्लेस की तुलना में 35% अधिक लिस्टिंग है।

इसके अलावा, Uniswap के नए ओपन-सोर्स यूनिवर्सल राउटर कॉन्ट्रैक्ट द्वारा संचालित, एग्रीगेटर उपयोगकर्ताओं को बाजार में अन्य NFT एग्रीगेटर्स की तुलना में गैस लागत पर लगभग 15% की बचत करने की अनुमति देगा।

इसके अलावा, लॉन्च की तारीख से 14 दिसंबर तक एग्रीगेटर पर एनएफटी की खरीदारी करने वाले पहले 22,000 अनूठे वॉलेट को उनके लेनदेन पर गैस छूट का लाभ मिलेगा।

इसके अलावा, Uniswap ने जिनी के ऐतिहासिक उपयोगकर्ताओं के लिए $ 5 मिलियन यूएसडीसी एयरड्रॉप की घोषणा की, एनएफटी मार्केटप्लेस एग्रीगेटर विकेंद्रीकृत एक्सचेंज जिसे पहले जून में अधिग्रहित किया गया था।

शायद यह आपके लिए अच्छा है

NFTs एग्रीगेटर प्लेटफॉर्म के लॉन्च के बाद, UNI की कीमत में 6% की वृद्धि हुई $5.88 के सूचकांक मूल्य पर कारोबारी दिन बंद करें, से डेटा कॉइनमार्केट कैप प्रकट किया।

लॉन्च की खबर ने UNI को अपनी नेटवर्क गतिविधि में 19 महीने के उच्चतम रिकॉर्ड बनाने के लिए प्रेरित किया। ऑन-चेन एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म सेंटिमेंट के आंकड़ों के अनुसार, नेटवर्क पर नए पतों की संख्या तुरंत 100% से अधिक बढ़ गई।

यूएनआई ने अपने नेटवर्क पर 7351 नए पतों के साथ 30 नवंबर को ट्रेडिंग सत्र बंद कर दिया। इसने NFTs एग्रीगेटर प्लेटफॉर्म के लॉन्च के बाद UNI की नई मांग में तेजी से वृद्धि दिखाई।

इसके अलावा, 30 नवंबर को UNI में कारोबार करने वाले अद्वितीय पतों की संख्या 4 मई 2021 के बाद से अपने उच्चतम बिंदु पर पहुंच गई, जैसा कि सेंटिमेंट के आंकड़ों से पता चलता है। ऑन-चेन एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म के अनुसार, 8531 पतों ने 30 नवंबर को यूएनआई का कारोबार किया, केवल एक दिन में 107% की छलांग लगाई।

इसके अलावा, UNI के बड़े प्रमुख पतों ने NFTs एग्रीगेटर लॉन्च और 30 नवंबर को UNI ट्रेडिंग को बढ़ाने के लिए मूल्य रैली का लाभ उठाया। नतीजतन, 30 नवंबर को इंट्राडे ट्रेडिंग सत्र के दौरान $100,000 से अधिक यूएनआई व्हेल लेनदेन की अग्रणी संकेतक संख्या 197% बढ़ गई।

इसी तरह, $1 मिलियन से अधिक के व्हेल लेनदेन के लिए, इसी अवधि में इसकी संख्या में 100% से अधिक की वृद्धि हुई।

यह बताना भी महत्वपूर्ण है कि जैसे ही यूएनआई की कीमत में क्षण भर में वृद्धि हुई, इसने सक्रिय निकासी में भी वृद्धि देखी क्योंकि कई निवेशकों ने रैली का लाभ उठाने की कोशिश की।

सेंटिमेंट के आंकड़ों के मुताबिक, 30 नवंबर को कारोबारी सत्र के दौरान यूएनआई की सक्रिय निकासी में 99% की वृद्धि हुई।

दुर्भाग्य से, UNI के MVRV अनुपात के अनुसार, कई लोगों ने अपने निवेश पर नुकसान देखा।

रेटिंग: 4.54
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 587
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *